बैकारेट 3 टियर स्टीमर

बैकारेट 3 टियर स्टीमर

time:2021-10-20 03:19:46 मुझे महीने में 40,000 रुपये म्‍यूचुअल फंडों में निवेश करना है, किन स्‍कीमों में लगाऊं? Views:4591

बेटिंग ऑड्स की गणना कैसे की जाती है बैकारेट 3 टियर स्टीमर 10cric वीडियो,casumo हॉटलाइन,लियोवेगास ट्रस्टपायलट,lovebet क्रना गोरा,lovebet ओडर टिपिको,lovebet और 788-sb.com,क्या कोई लाभदायक बोर्ड गेम हैं,बैकरेट जुआ वेबसाइट संग्रह,बैकरेट वेब गेम,सट्टेबाजी का पैसा,कैसीनो बॉट कलह,कैसीनो वॉलपेपर,क्लासिक रम्मी निकासी नियम,क्रिकेट लाइव स्कोर भारत,एफ़ुटबॉल,च फुटबॉल भविष्यवाणी,फुटबॉल ओवरटाइम,उत्पत्ति कैसीनो निलंबन,ऑनलाइन फ़ुटबॉल सट्टेबाजी के एकल मैच पर बेट कैसे लगाएं,आईपीएल फोटो,जैकपॉट विकी,लाइव लाठी यूट्यूब,लॉटरी 27/05/21,भाग्य 9 कैसीनो खेल,एनबीए लाइव 8,ऑनलाइन कैसीनो जाम्बिया,ऑनलाइन पोकर मैसाचुसेट्स,परिमच जेटेक्स,पोकर युद्ध लिवर है,असली पैसा जमींदार से लड़ता है,शासन कशा,रम्मी वेगास APK,स्लॉट मशीन लोकेटर,खेल 88 dfw,स्पोर्ट्सबुक लीगल स्टेट्स,टेक्सास होल्डम कोई सीमा नहीं,टीआर क्रिकेट एपीके डाउनलोड,अधिक मजेदार और निष्पक्ष ऑनलाइन कैसीनो कहां हैं,वाई फुटबॉल खिलाड़ी,एक पत्ती गेम,क्रिकेट gk 2019,गोवा जाने का रास्ता,तारीख लॉटरी रिजल्ट,बकरा इंग्लिश,बेटा ही चाहिए सीरियल,लॉटरी भाग लक्ष्मी, .मुझे महीने में 40,000 रुपये म्‍यूचुअल फंडों में निवेश करना है, किन स्‍कीमों में लगाऊं?

निवेश की रणनीति जब त‍क बिल्कुल स्पष्ट न हो, सिप के जरिये निवेश करना ज्‍यादा समझदारी है.
प्रताप 44 साल के हैं. अपने निवेश के साथ वह काफी ज्‍यादा जोखिम ले सकते हैं. उनके पास हर महीने 40,000 रुपये बच जाते हैं. इस पैसे को वह इक्विटी म्‍यूचुअल फंडों में आठ से 10 साल के लिए लगाना चाहते हैं. इसके लिए प्रताप कुछ स्‍कीमों के बारे में जानने को इच्‍छुक हैं. उनका यह भी सवाल है कि क्‍या बाजार में जिस दिन बड़ी गिरावट आए, उस दिन एकमुश्त निवेश में समझदारी है?

आइए, जानते हैं कि एक्‍सपर्ट प्रताप को क्‍या सलाह दे रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : एनपीएस में निवेश किया है? जानिए एसेट एलोकेशन में कैसे करें बदलाव

स्‍टेबल इंवेस्‍टर के संस्थापक और सेबी पंजीकृत निवेश सलाहकार देव आशीष कहते हैं कि प्रताप ने बताया है कि वह निवेश के साथ ज्‍यादा जोखिम ले सकते हैं. साथ ही निवेश के लिए उनके हाथ में समय भी काफी ज्‍यादा है. इन बातों को देखते हुए वह एचडीएफसी निफ्टी50 इंडेक्‍स, आईसीआईसीआई प्रू निफ्टी नेक्‍स्‍ट50 इंडेक्‍स, पराग पारेख फ्लेक्‍सीकैप (लॉन्‍ग टर्म इक्विटी) फंड और मिराए एसेट इमर्जिंग ब्लूचिप में से तीन या चार इक्विटी फंडों से शुरुआत कर सकते हैं.

समय गुजरने के साथ उन्‍हें इक्विटी में निवेश कम कर देना चाहिए. इसके बजाय धीरे-धीरे डेट फंडों की ओर रुख करना चाहिए. जहां तक बड़ी गिरावट के दिन एकमुश्त निवेश की तुलना में सिप का सवाल है तो यह सुनने और सिद्धांतों में आकर्षक लगता है. गिरावट पर खरीदना अच्छा आइडिया है. लेकिन, इसमें व्यावहारिक समस्या है.

इसे भी पढ़ें : ईटीएफ के बारे में यहां जानिए अपने हर सवाल का जवाब

मान लीजिए कि आपको बड़ी गिरावट का इंतजार करने के लिए कई महीनों का समय लग जाए. वहीं, बाजार इस दौरान तेजी के रथ पर सवार हो. इस तरह इन महीनों के बीच आप निवेश का मौका गंवा देंगे.

लिहाजा, निवेश की रणनीति जब त‍क बिल्कुल स्पष्ट न हो, सिप के जरिये निवेश करना ज्‍यादा समझदारी है. मौजूदा निवेश की रकम और अपने एसेट एलोकेशन को लेकर भी ध्यान रखना चाहिए.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

इक्विटी म्‍यूचुअल फंडसिपरिटर्नहर महीने निवेशजोखिम

ETPrime stories of the day

How Srei lenders hid potential related-party transactions by routing them through public trusts
Under the lens

How Srei lenders hid potential related-party transactions by routing them through public trusts

10 mins read
Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past
Investing

Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past

14 mins read
Lilly withered in India’s blooming diabetes market. Key deficiency: an India-specific sales pitch.
Pharma

Lilly withered in India’s blooming diabetes market. Key deficiency: an India-specific sales pitch.

9 mins read

सर्वे में 20 से ज्‍यादा इंडस्‍ट्रीज की 1,200 कंपनियों की प्रतिक्रिया ली गई. इनमें से 1,000 ने इस साल वेतनवृद्धि के लिए कहा है.रोजगार संबंधी सेवाएं देने वाली वेबसाइट नौकरी डॉट कॉम के 'हायरिंग आउटलुक सर्वे' के अनुसार, नियोक्ता नए साल को लेकर आशावान लग रहे हैं.कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

अपने साथ की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले डॉ रेड्डीज लैब का वैल्यूएशन कम है. साथ ही बैलेंसशीट भी मजबूत है.एक साल पहले इस फंड के अनुभवी मैनेजर ने इस्तीफा दिया. हालांकि, स्‍कीम की बागडोर मजबूत प्रबंधन के हाथों में है. निवेश के तरीके में कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ है.कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.बेटी की शिक्षा और शादी के लिए माता-पिता पैसा जोड़ पाएं, इस मकसद के साथ यह स्‍कीम लॉन्‍च की गई थी.आईटी और रिटेल सेक्‍टर में मार्च में हुईंं ज्‍यादा भर्तियां : रिपोर्ट

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
बेटिंग कंपनी ऑड्स विशेषताएँ

आईबीए ने बैंक कर्मचारी और अधिकारी संघों के साथ 11वीं द्विपक्षीय वेतनवृद्धि वार्ता नई सहमति के साथ सम्पन्न होने की बुधवार को घोषणा की.

रूले लाइव गोल्डबेट

डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.

स्पोर्ट्स दा सॉर्टे

सुकन्या समृद्धि स्‍कीम में बेटी के जन्‍म के बाद उसके नाम पर खाता खुलवाया जा सकता है. उसके 10 साल का होने तक ऐसा किया जा सकता है.

ई-स्पोर्ट्स क्विज

डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.

क्रिकेट खिलाड़ी

जब संस्‍थान में किसी कर्मचारी को नौकरी छोड़ने के लिए कहा जाता है तो वे आमतौर पर चौंक जाते हैं. लेकिन, कई मामलों में इसके संकेत पहले से मिलने लगते हैं. बात सिर्फ इतनी होती है कि कर्मचारी इन संकेतों का मतलब समझकर सुधार की दिशा में कदम नहीं उठा पाते हैं. आइए, यहां ऐसे ही कुछ संकेतों के बारे में जानते हैं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी