leovegas येलिकेरोइन

leovegas येलिकेरोइन

time:2021-10-18 15:09:44 Unicorn की रेस में ब्रिटेन, चीन, कनाडा जैसे विकसित देशों को भी पछाड़ रहा है भारत Views:4591

ऑनलाइन कैसीनो echtgeld leovegas येलिकेरोइन betway कस्टमर केयर नंबर,fun88 नया खाता ऑफ़र,lovebet 4 जीतने के लिए,lovebet हेल्पलाइन नंबर भारत,lovebet टा बगडो,सट्टेबाजी पंजीकरण के लिए 10 युआन,बैकारेट एजेंट खाता खोलना,बैकारेट ठीक है,बेस्ट जुरासिक फाइव गाने,बोन्स ज़ूप्लस,कैसीनो कैनसस सिटी,शतरंज 2,क्रिकेट पुस्तक संग्रह,क्रिकेट डब्ल्यूटीसी फाइनल,यूरोपीय आधिकारिक गेमिंग कंपनी,फ़ुटबॉल या मैरोको,जी कैसीनो मैनचेस्टर,खुश किसान एंजाइम प्लम,मैं कैसीनो ऐप,जे पोकर महत्व,ला कैसीनो रेस्टोरेंट,लाइव कैसीनो आभासी रोस्टर,लॉटरी जीतने के ऊपर,लूडो जीत नकद,ऑनलाइन कैश बैकरेट वेबसाइट,दोस्तों के साथ ऑनलाइन गेम खेलें,मिशिगन में ऑनलाइन स्लॉट,रम्मी के लिए बिंदु प्रणाली,पोकर युद्ध इंद्रधनुष खेल,रूले लाइव मेटोडी,मोबाइल के लिए रम्मी सर्कल डाउनलोड,रम्मीकल्चर वर्ल्ड,स्लॉट साम्राज्य बोनस कोड,खेल समाचार हिंदी में,तीन पत्ती डाउनलोड APK,सबसे गर्म शतरंज,ऑनलाइन स्कोर देखें,वाइल्डज़ बोनस umsetzen,d स्टेटस,करीना घर,क्रिकेट भारत पाकिस्तान,चेस शब्द का अर्थ,परि रापा,बरसात फिल्म बॉबी देओल ट्विंकल खन्ना की,रमी प्ले गेम,स्टेटस तेरे नाम, .Unicorn की रेस में ब्रिटेन, चीन, कनाडा जैसे विकसित देशों को भी पछाड़ रहा है भारत

नई दिल्ली
Unicorn In India: अगर बात यूनिकॉर्न की करें तो भारत कई विकसित देशों से आगे निकल चुका है। चीन, ब्रिटेन और कनाडा की तुलना में भारत में कैलेंडर ईयर 2021 की तीसरी तिमाही में यूनिकॉर्न की संख्या विकसित देशों को भी पार कर गई है। प्राइस वाटर हाउस कूपर्स के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है।

यूनिकॉर्न का मतलब ऐसे स्टार्टअप से है जिसका वैल्यूएशन कम से कम $एक अरब हो। चालू कैलेंडर वर्ष की तीसरी तिमाही में भारत ने 10 यूनिकॉर्न जोड़े हैं। इस अवधि में चीन और हांगकांग में सात, अमेरिका और कनाडा में चार यूनिकॉर्न जुड़े हैं। इस हिसाब से संकेत मिलते हैं कि भारत में निवेश गतिविधियों में तेजी से वृद्धि हो रही है।

यह भी पढ़ें: Petrol Price: एयरोप्लेन के ईंधन से अधिक महंगे पेट्रोल पर चल रही है आपकी कार-बाइक, जानिए ATF का भाव

अमेरिका है शीर्ष पर
अगर बात अमेरिका की करें तो उसने चालू कैलेंडर वर्ष की तीसरी तिमाही में भारत से अधिक 68 यूनिकॉर्न बनाए हैं। चालू कैलेंडर वर्ष की तीसरी तिमाही में भारत के स्टार्टअप में करीब 11 अरब डालर का निवेश हुआ है और इससे संबंधित 347 डील हुई है। किसी एक तिमाही में भारत में स्टार्टअप में अरब से अधिक का निवेश पहली बार आया है।

नए बिजनेस मॉडल से मदद
प्राइस वॉटर हाउस कूपर्स इंडिया के पार्टनर (डील्स एंड स्टार्टअप लीडर) अमित नवका ने कहा, "भारत में स्टार्टअप को कंपनियों के डिजिटल एडॉप्शन से काफी फायदा हुआ है। इसके साथ ही आम लोग भी अब ऑनलाइन खरीदारी बढ़ा रहे हैं। इस वजह से स्टार्ट अप अपने बिजनेस मॉडल डिवेलप कर रहे हैं और इस वजह से निवेशकों का इंटरेस्ट काफी बढ़ा है।"

निवेश का आकार बढ़ा
भारत के स्टार्टअप में किए जाने वाले निवेश का औसत आकार बढ़ा है और इसके साथ ही फंडिंग के राउंड तेजी से आकार ले रहे हैं। इस वजह से तकरीबन सभी सेक्टर में डील से संबंधित गतिविधियों में तेजी आई है। चालू कैलेंडर वर्ष की शुरुआत से ही स्टार्टअप में निवेश में तेज वृद्धि दर्ज की जा रही है।

अर्ली स्टेज फंडिंग
अगर बात इस साल की तीसरी तिमाही की करें तो ओवरऑल फंडिंग एक्टिविटी में से 84 फ़ीसदी का फोकस ग्रोथ या बाद के डील के मामलों पर रहा है। कंसलटिंग फर्म ने कहा है कि 61 फ़ीसदी फंडिंग एक्टिविटी अर्ली स्टेज फंडिंग राउंड के माध्यम से आई है।

यह भी पढ़ें: China GDP: इस साल के नौ महीने में चीन की जीडीपी ग्रोथ 9.8%, भारत की क्या है स्थिति


4 Fear In Business: 4 डर... जो इंसान को अपना बिजनस शुरू नहीं करने देते

4 Fear In Business: शायद ही कोई ऐसा होगा जिसने अपनी जिंदगी में कभी बिजनस करने के बारे में नहीं सोचा होगा। और बिजनस की सोचें क्यों नहीं, इसमें चंद सालों में ही एक शख्स को अरबपति बनाने की ताकत होती है। सोचते तो बहुत से लोग हैं, लेकिन सिर्फ कुछ ही लोग बिजनस में उतर पाते हैं। अधिकतर लोग इस वजह से बिजनस नहीं कर पाते हैं, क्योंकि वह डरते हैं। उन्हें एक दो नहीं बल्कि 4 तरह के डर होते हैं, जिसके चलते वह अपना बिजनस शुरू (how to start a business) नहीं कर पाते।


In Video: 4 Fear In Business: 4 डर... जो इंसान को अपना बिजनस शुरू नहीं करने देते

टॉपिक

startup fundingindian unicornunicorn indiaunicorn investmentindian startupभारत में यूनिकॉर्नयूनिकॉर्न का मतलबयूनिकॉर्न की फंडिंगस्टार्टअप में निवेशस्टार्टअप की संख्या

ETPrime stories of the day

Lilly withered in India’s blooming diabetes market. Key deficiency: an India-specific sales pitch.
Pharma

Lilly withered in India’s blooming diabetes market. Key deficiency: an India-specific sales pitch.

9 mins read
How Srei lenders hid potential related-party transactions by routing them through public trusts
Under the lens

How Srei lenders hid potential related-party transactions by routing them through public trusts

10 mins read
Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past
Investing

Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past

14 mins read

सुकन्या समृद्धि स्‍कीम में बेटी के जन्‍म के बाद उसके नाम पर खाता खुलवाया जा सकता है. उसके 10 साल का होने तक ऐसा किया जा सकता है.मुंबई, 18 अक्टूबर (भाषा) अन्य मुद्राओं की तुलना में डॉलर में मजबूती के बीच सोमवार को शुरुआती कारोबार में रुपया दो पैसे के नुकसान के साथ 75.28 प्रति डॉलर पर खुला। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया शुरुआती कारोबार में 75.26 से 75.29 प्रति डॉलर के दायरे में रहा। बृहस्पतिवार को रुपया 75.26 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। शुक्रवार को दशहरा के अवसर पर फॉरेक्स बाजार बंद था। इस बीच, छह मुद्राओं की तुलना में डॉलर का रुख दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.17 प्रतिशत की बढ़त के साथ 94.09 पर पहुंच गया।सुकन्‍या समृद्धि योजना के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

इंडेक्‍स फंडों की तरह ईटीएफ अमूमन किसी खास मार्केट इंडेक्स को ट्रैक करते हैं. इनका प्रदर्शन उस इंडेक्‍स जैसा होता है.मुंबई, 18 अक्टूबर (भाषा) अन्य मुद्राओं की तुलना में डॉलर में मजबूती के बीच सोमवार को शुरुआती कारोबार में रुपया दो पैसे के नुकसान के साथ 75.28 प्रति डॉलर पर खुला। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया शुरुआती कारोबार में 75.26 से 75.29 प्रति डॉलर के दायरे में रहा। बृहस्पतिवार को रुपया 75.26 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। शुक्रवार को दशहरा के अवसर पर फॉरेक्स बाजार बंद था। इस बीच, छह मुद्राओं की तुलना में डॉलर का रुख दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.17 प्रतिशत की बढ़त के साथ 94.09 पर पहुंच गया।निवेश की शुरुआत करने जा रहे हैं? जानिए कैसे उठाएं एक-एक कदम

बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
जैकपॉट खेल भविष्यवाणियां

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) डिजिटल भुगतान और वित्तीय सेवा कंपनी पेटीएम मौजूदा त्योहारी सीजन के दौरान विपणन (मार्केटिंग) अभियान पर 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी। इस अभियान के तहत कंपनी अपने ग्राहकों को कैशबैक की पेशकश करेगी। इसके अलावा कंपनी यूपीआई और ‘बाय नाउ, पे लेटर’ के प्रसार के लिए भी अभियान चलाएगी। कंपनी ने भारत के सभी जिलों के ग्राहकों के लिए विपणन अभियान के तहत ‘पेटीएम कैशबैक धमाका’ की शुरुआत की है। इस अभियान के तहत कंपनी विशेष रूप से गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक जैसे राज्यों पर ध्यान केंद्रित कर रही है। पेटीएम ने

कैसीनो दिन लाइव चैट

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस का शेयर सोमवार को पांच प्रतिशत टूटकर अपनी निचली सर्किट सीमा को छू गया। कंपनी ने अमेरिका की निजी इक्विटी कंपनी कार्लाइल ग्रुप और अन्य को 4,000 करोड़ रुपये की शेयर बिक्री योजना को छोड़ दिया है जिसके बाद उसके शेयरों में गिरावट आई। बीएसई में कंपनी का शेयर पांच प्रतिशत टूटकर 607.10 रुपये की अपनी निचली सर्किट सीमा पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में भी कंपनी का शेयर अपने निचले सर्किट पर आ गया। एनएसई में कंपनी का शेयर 4.99 प्रतिशत टूटकर 606.75 रुपये पर आ गया।

एनबीए प्लेयर रैंकिंग

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) फ्रैंकलिन टेंपलटन ने अपनी इमर्जिंग मार्केट इक्विटी-भारत की टीम को मजबूत करते हुए अजय अर्गल और वेंकटेश संजीवी को पोर्टफोलियो प्रबंधक नियुक्त किया है। कंपनी ने सोमवार को बयान में कहा कि अर्गल और संजीवी 12 अक्टूबर से पोर्टफोलियो प्रबंधक के रूप में टीम में शामिल हो गए हैं। दोनों चेन्नई में काम संभाल रहे हैं और वे इमर्जिंग मार्केट इक्विटी-भारत टीम के प्रमुख आनंद राधाकृष्णन को रिपोर्ट करेंगे। अर्गल फ्रैंकलिन इंडिया फोकस्ड इक्विटी कोष और फ्रैंकलिन बिल्ड इंडिया फंड के पोर्टफोलियो प्रबंधक होंगे। संजीवी फ्रैंकलिन इंडिया ब्लूचिप फंड और फ्रैंकलिन इंडिया इक्विटी एडवांटेज

एम लवबेट भविष्यवाणी

क्या आप यह जानते हैं कि आपके कार या बाइक में डलने वाले पेट्रोल का भाव अब हवाई जहाज के ईंधन की तरह इस्तेमाल होने वाले एविएशन टर्बाइन क्यूल या एटीएफ (ATF) से ज्यादा महंगा हो गया है।

betway हेड ऑफिस

पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
री कैसीनो समाचार

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) फ्रैंकलिन टेंपलटन ने अपनी इमर्जिंग मार्केट इक्विटी-भारत की टीम को मजबूत करते हुए अजय अर्गल और वेंकटेश संजीवी को पोर्टफोलियो प्रबंधक नियुक्त किया है। कंपनी ने सोमवार को बयान में कहा कि अर्गल और संजीवी 12 अक्टूबर से पोर्टफोलियो प्रबंधक के रूप में टीम में शामिल हो गए हैं। दोनों चेन्नई में काम संभाल रहे हैं और वे इमर्जिंग मार्केट इक्विटी-भारत टीम के प्रमुख आनंद राधाकृष्णन को रिपोर्ट करेंगे। अर्गल फ्रैंकलिन इंडिया फोकस्ड इक्विटी कोष और फ्रैंकलिन बिल्ड इंडिया फंड के पोर्टफोलियो प्रबंधक होंगे। संजीवी फ्रैंकलिन इंडिया ब्लूचिप फंड और फ्रैंकलिन इंडिया इक्विटी एडवांटेज